निर्मोही प्रशासन और आठ माह से लाचार विधवा का अनशन!

विनोद मिश्रा
बांदा।
असंवेदनशील प्रशासन के विरुध्द एक लाचार विधवा महिला ने अपने हक- हकूक के लिये गांधी वादी तरीके से आठ माह से निरंतर अनशन का बिगुल फूंक रखा है पर निर्दयी प्रशासन विधवा के इस अहिंसक संग्राम को नजर अंदाज किये हुये है । यह अपने आप में एक अबला का इस मंडल मुख्यालय का ऐतिहासिक आंदोलन  कहा जाये तो अतिसियौक्ति नहीं होगी ।

अब हम आपको इस सत्याग्रह आंदोलन कि पृष्ठभूमि कि ओर ले चलते हैं ।बांदा मंडल मुख्यालय में आठ माह से विधवा महिला अपने बेटे के साथ स्वतंत्रता स्मारक अशोक लाट पर धूप, बारिश, ठंड, गर्मी जैसे मौसम की मार सह रही है। इतने दिनों से अनशन पर बैठी विधवा की सेहत लगातार गिर रही है पर निर्मोही प्रशासन कि ओर से कोई सुनवाई नहीं हो रही! विधवा किसी और से नही अपने ही दबंग देवर से अपना हक पाने के लिए यह संघर्ष कर रही है।

हमीरपुर जिले के ललपुरा थाना क्षेत्र के रूरी पारा की सुधा देवी पत्नी स्व. जगभान सिंह 25 सितंबर 2019 से अशोक लाट पर अनशन पर बैठी हुई है। उसका आरोप है कि पति की मौत के बाद दबंग देवर ने उसका पैतृक मकान और हिस्से में आई 25 बीघा भूमि जबरदस्ती छीनकर कब्जा कर लिया । तब से वह अपने दो बच्चों के साथ दर-दर भटक रही है। कहीं ठिकाना नहीं है।

आरोप है कि एसडीएम मौदहा और ललपुरा थानाध्यक्ष उसके साथ अन्याय कर रहे हैं। किसी अन्य अधिकारी से निष्पक्ष जांच करवा कर उसे कृषि भूमि 1/5 हिस्सा और पैतृक मकान दिलवाया जाए। विधवा ने इस आशय की अर्जी सोमवार को फिर मुख्यमंत्री सहित मंडल और हमीरपुर के अधिकारियों को भेजी है।अब देखना यह होगा किआखिर प्रशासन इस विhधवा पर कब तरस खाकर मामले कि जांच कर प्रकरण का निस्तारण करता है ।क्योकि यह प्रशासन कि जघन्य असंवेदन शीलता और लोकतांत्रिक शासकीय नीतियों का भी उलंघन है ।
निर्मोही प्रशासन और आठ माह से लाचार विधवा का अनशन! निर्मोही प्रशासन और आठ माह से लाचार विधवा का अनशन! Reviewed by UPUKLive Desk on 5/19/2020 11:28:00 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.