हाँग-काँग का जिआ जिआ पांडा हुआ 37 का, बना गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड

पांडा जगत की अगर बात करें तो दुनिया ब्लैक एंड व्हाइट सी लगती है। पर वहीं अगर एक खास दिन 28 जुलाई का ज़िक्र अगर छिड़ता है, तो देखेंगे की वाकई पांडा की दुनिया भी काफी रंगीन है।
28 जुलाई 2015 का दिन पांडा के इतिहास का सबसे खास दिन है। इसी दिन हाँग-काँग के ओशन पार्क में रहने वाले पांडा जिआ-जिआ ने अपना 37 वर्ष पुरे करते हुए गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज दर्ज करा लिया है। विशेषज्ञों के अनुसार पांडा के द्वारा जिया गया यह 37 साल का साधारण इंसान के 100 वर्षों से भी ज़्यादा है।
1978 में जन्मे इस जिआ-जिआ पांडा ने जानकारों के अनुसार पांडा की 25 वर्ष की औसत आयु सीमा को पार कर लिया है। इस क्षण को और भी खास बनाते हुए पांडा को दो गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड से नवाज़ा गया है। जिसमें पहला इसके 37 वर्ष पूरा करने की खुशी में जिससे यह पांडा दुनिया का सबसे उम्र दराज़ पांडा बन गया है और दूसरा इसलिए की इस उम्र में पहुँच कर भी ज़िंदा रहने वाला यह एकलौता पांडा है।
हाँग-काँग का जिआ जिआ पांडा हुआ 37 का, बना गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड हाँग-काँग का जिआ जिआ पांडा हुआ 37 का, बना गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड Reviewed by Unknown on 3:07 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.