गार-ऐ- हिरा से प्रेरित ज़मीन के नीचे बनाई गई मस्जिद को मिला दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड

नई दिल्ली।  तुर्की दुनिया में अपनी शानदार कारीगिरी और फनकारी के लिये मशहूर है,इसी लिये दुनिया के खूबसूरत शहरों में तुर्की के कई शहरों का नाम आता है,तुर्की और स्पेन के आर्कटेक्चर को दुनियाभर में पसन्द किया है।
तुर्की में अपनी इस कलाकारी का प्रदर्शन करते हुए एक असाधारण रूप से एक मस्जिद का निर्माण किया गया है ,जिसका डिज़ाईन नबी पाक सलल्लाहू अलैही वसल्लम की एकांत में इबादत के चुनी गई गार हिरा की तरह का है।
तुर्की के बुयुक्केसेमेस में स्थित संकाक्लर में मस्जिद, इस मस्जिद का निर्माण वर्ष 2015 में पूरा हुआ था,इस निर्माण पर इसको वर्ल्ड आर्किटेक्चर फेस्टिवल में पहला स्थान पुरस्कार जीता।
किसी को यह कोई आश्चर्य नहीं है कि इस मस्जिद ने पुरस्कार जीता है। यह डिजाइन गार-ए-हेरा से प्रेरित है जहां पैगंबर मोहम्मद (सल.) पर पहली आयत नाज़िल हुई थी। तथ्य यह है कि मस्जिद जमीन के नीचे स्थित है, जो हमें प्राचीन इमारतों की याद दिलाता है और औरों से अलग करता है। डिजाइन आर्किटेक्ट एमरे अरोलाट द्वारा खींचा गया था जो 700 वर्गमीटर में स्थित है।
मस्जिद का इंटीरियर सरल और विशाल है। मानव निर्मित और प्रकृति के बीच तनाव हमेशा प्राकृतिक पत्थर की सीढ़ियों की वजह से होता है जो परिदृश्य की प्राकृतिक ढलान का पालन करते हैं। मस्जिद पूरी दुनिया के साथ पूरी तरह से मिश्रण करता है।
क़िबला के सामने, छेद और फ्रैक्चर प्रार्थना की दिशा को इंगित करता है, जबकि डेलाइट को प्रार्थना कक्ष में जाने की अनुमति देते हैं। यह एक शांतिपूर्ण माहौल बनाता है। बुयुक्केसेमेस के साथ-साथ देश के लोगों को इस तरह की एक उत्कृष्ट मस्जिद होने पर गर्व है। मस्जिद के अपने आकर्षण हैं और यात्रा के लायक है।
गार-ऐ- हिरा से प्रेरित ज़मीन के नीचे बनाई गई मस्जिद को मिला दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड गार-ऐ- हिरा से प्रेरित ज़मीन के नीचे बनाई गई मस्जिद को मिला दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड Reviewed by Unknown on 9/17/2018 09:15:00 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.