इस कुएं के पानी से स्नान करने मात्र से ठीक हो जाती हैं गंभीर बीमारियां?

बाराबंकी।  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में एक ऐसा अनोखा व चमत्कारी कुआं है, जहां स्नान करने से पीलिया गंभीर बीमारी ठीक हो जाती है, यह स्थान अपने आप में अद्भुत व चमत्कारी माना जाता है।

बाराबंकी जिले से लगभग 50 किलोमीटर दूर हैदरगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बेहटा में टीकाराम धाम नाम से प्रसिद्ध हैं।   स्थानीय लोगों की मान्यताए है, यह स्थान 300 वर्ष से भी अधिक पुराना है यहां का इतिहास काफी अनोखा व अद्भुत माना जाता है।

ग्रामीणों की माने तो ब्राह्मण कुल में पैदा हुए गुनाखर बाबा नाम के संत हुआ करते थे ! जो काफी तपस्वी व भगवान को मानने वाले व्यक्ति थे उन्होंने ही इस स्थान पर जीवित समाधि ली थी और उनके तपोबल से यहां  पर एक वट वृक्ष का पेड़ उगा और देखते ही देखते 400 से अधिक वर्ग मीटर में बरगद का पेड़ फैल गया उसी बरगद के जड़ में बाबा गुनाखर इस समाधि स्थल आज भी मौजूद है जहां पर स्थानीय ग्रामीण पूजा पाठ करते हैं।  और प्रसाद चढ़ाकर आशीर्वाद प्राप्त किया जाता हैं।

स्थानीय निवासियों ने बताई अद्भुत मान्यताएं
वही जब स्थानीय निवासी मुन्ना मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस स्थान पर संत बाबा गुनाखर  दास ने जीवित समाधि ली थी ।और इसी स्थान पर एक कुआं भी है ।कुआं का जल काफी पवित्र माना जाता है,इस जल से स्नान करने के बाद पुराने वस्त्रों को छोड़ दिया जाता है।जिससे पीलिया व कई अन्य गंभीर बीमारियां जल्द ठीक हो जाती हैं,  वही इस स्थान पर स्नान करने आए पीलिया रोग से ग्रसित अमेठी जनपद के सेमरउता निवासी आशीष साहू ने बताया कि मैं भी यहां से लगभग 60 किलोमीटर दूर से आया हूं इस स्थान के  कुएं के जल से   स्नान करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है। साथ ही बताया कि हमारे गांव के कई पुरुष व महिलाएं यहां से स्नान करके पीलिया रोग से मुक्त हुई है, जिस पर मैं भी स्नान के लिए यहां पर आया हूं !

बाबा की समाधि पर उगा लगभग 300 वर्ष पुराना वट वृक्ष

स्थानीय निवासियों ने बताया कि यहां पर एक लगभग 300 वर्ष पुराना वट वृक्ष है,जिसकी शाखाएं 400वर्ग मीटर तक फैली है।जो बाबा गुनाखर दास की समाधि पर उगा है।
इस कुएं के पानी से स्नान करने मात्र से ठीक हो जाती हैं गंभीर बीमारियां? इस कुएं के पानी से स्नान करने मात्र से ठीक हो जाती हैं गंभीर बीमारियां? Reviewed by Unknown on 3:40 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.